मुख्यमंत्री शहरी आजीविका गारंटी योजना 2023: Shahri-Ajeevika-Guarantee-Yojana

Rate this post

देश में बेरोजगारी की समस्या तेजी से बढ़ती जा रही है। देश के विकास के साथ-साथ बेरोजगारी की समस्या भी बढ़ती जा रही है। कई लोगों के पास शिक्षा होने के बाद भी नौकरी नहीं है और वे अपने घर में बैठे हुए हैं। इस समस्या को देखते हुए हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने मुख्यमंत्री शहरी आजीविका गारंटी योजना को शुरू किया है। मुख्यमंत्री ठाकुर ने 22 सितंबर 2020 को इस योजना को शुरू करने का ऐलान किया था और इसकी अवधि 31 मार्च 2023 तक निर्धारित की गई है। इस योजना के माध्यम से उन लोगों को आर्थिक मदद प्रदान की जाएगी, जो बेरोजगार हैं या उनकी आय बहुत कम है।

18 से 65 वर्ष की आयु वाले नागरिकों को ही लाभ प्राप्त करने के लिए इस योजना का विस्तार होगा। इस योजना के अंतर्गत, राज्य सरकार हर परिवार को हर साल 120 दिन के लेबर एम्प्लॉयमेंट (मजदूरी रोजगार) की गारंटी प्रदान करेगी, जो राज्य में रहने वालों के लिए बड़ी सौगात होगी। आप भी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो उद्धरणित आधिकारिक वेबसाइट ud.hp.gov.in पर जाकर इसके आवेदन पत्र को भर सकते हैं।

शहरी आजीविका योजना के तहत, राज्य सरकार नागरिकों के लिए कौशल विकास ट्रेनिंग की सुविधा भी देगी, जिससे लोग नए रोजगार अवसर प्राप्त कर सकते हैं। दीनदयाल अंत्योदय राष्ट्रीय शहरी मिशन के अंतर्गत, लाभार्थियों को कौशल ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी। इसके अलावा, यदि कोई नागरिक स्वयं का कोई व्यवसाय शुरू करना चाहता है तो उन्हें कौशल विकास योजना के अंतर्गत ऋण सुविधा भी उपलब्ध होगी।

इससे देश का विकास और कई तरह की इंडस्ट्रियल एरियाज का डेवलपमेंट होगा। योजना का उद्देश्य, योजना से मिलने वाले लाभ एवं विशेषताएं, आवश्यक दस्तावेज, योजना हेतु पात्रता, ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया, ऑफलाइन प्रक्रिया, लॉगिन कैसे करें, डैशबोर्ड देखने की प्रक्रिया आदि जैसी अधिक संबंधित जानकारी के लिए आप आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

मुख्यमंत्री शहरी आजीविका गारंटी योजना 2023 क्या है ?

कोरोना महामारी के कारण सरकार ने एक योजना शुरू की है जिससे लोगों को बेरोजगारी से निजात मिल सके। लॉकडाउन के कारण लोगों को अपने घरों में ही रहना पड़ रहा है, जिससे वे बेरोजगार हो गए हैं। इससे उनकी आर्थिक स्थिति भी खराब हो गई है और बेरोजगारी के कारण उनके परिवार का भरण-पोषण भी सही तरीके से नहीं हो पा रहा है। सरकार ने इस समस्या का समाधान निकालने के लिए एक योजना शुरू की है जिसमें लोगों को 120 दिनों की गारंटीकृत मजदूरी रोजगार मिलेगा। इससे लोग स्वयं का कारोबार खोल सकेंगे और अपने परिवार का भरण-पोषण सही तरीके से कर सकेंगे। इस योजना से उनकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी और वे खुशहाल जीवन जीने में सक्षम होंगे।

मुख्यमंत्री शहरी आजीविका गारंटी योजना का उद्देश्य क्या है ?

योजना का उद्देश्य केवल यह है कि वह शहरी क्षेत्रों में व्यवसाय बढ़ाया जा सके, जिससे लोगों को रोजगार मिलता रहे और वे अपने परिवार की मदद कर सकें और अपनी आर्थिक स्थिति सुधार सकें। योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को स्किल ट्रेनिंग (कौशल परिक्षण) दी जाएगी। उन लोगों को जो स्वयं का व्यापार खोलना चाहते हैं, उन्हें बैंक द्वारा लोन सुविधा भी प्रदान कराई जाएगी। इससे देश की जनता का भला हो सकता है और वे स्वयं से आत्मनिर्भर बन सकते हैं तथा देश में बेरोजगारी को जड़ से खत्म कर सकते हैं।

शहरी आजीविका योजना से मिलने वाले लाभ एवं विशेषताएं

लाभार्थियों को योजना के तहत 120 दिनों तक रोजगार प्राप्त होगा। इस योजना के अंतर्गत नागरिकों को कौशल विकास की ट्रेनिंग भी दी जाएगी, जिससे उन्हें रोजगार के अधिक अवसर मिलेंगे। लाभार्थियों को 275 रुपये की दिहाड़ी भी प्रदान की जाएगी। यह योजना शहर में रहने वाले बेरोजगारों के लिए उपयोगी होगी। इस योजना के आवेदन को आप अब घर बैठे ऑनलाइन माध्यम के माध्यम से कंप्यूटर या मोबाइल के जरिए कर सकते हैं।

फॉर्म ऑनलाइन भरने से आवेदकों के समय और पैसे दोनों बचते हैं। जिन लोगों ने पहले से ही रजिस्ट्रेशन करवा लिया है, उन्हें 15 दिनों के अंदर रोजगार की सुविधा मिल जाएगी। लाभार्थियों के खाते में मजदूरी की राशि सीधे ट्रांसफर की जाएगी। यह योजना 31 मार्च 2023 तक लागू रहेगी और सरकार आगे भी इस योजना की अवधि को बढ़ा सकती है। इससे राज्य के श्रमिकों की आजीविका और व्यवसाय में सुधार होगा। यह योजना एक गारंटीकृत रोजगार की सुविधा प्रदान करती है।

शहरी आजीविका योजना आवश्यक दस्तावेज

शहरी आजीविका गारंटी योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने वाले आवेदकों को कुछ आवश्यक दस्तावेजों की जरूरत होगी। इन दस्तावेजों के आधार पर आप योजना के लिए आसानी से आवेदन कर सकते हैं। निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होगी –

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • बैंक पासबुक
  • पैन कार्ड
  • बैंक अकाउंट नंबर
  • रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर
  • आयु प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र

Mukhyamantri Shehri Ajeevika Guarantee हेतु पात्रता

मुख्यमंत्री शहरी आजीविका गारंटी योजना के लिए आवेदन करने से पहले, पात्रता मानदंडों को पूरा करना अत्यधिक आवश्यक होता है। इसके बाद ही आप आवेदन पत्र भर सकते हैं। ये पात्रता मानदंड निम्नानुसार हैं:

  • आवेदक का निवास हिमाचल प्रदेश में होना चाहिए।
  • योजना के अंतर्गत आवेदक की आयु 18 से 65 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • परिवार का सबसे बड़ा सदस्य योजना के लिए पात्र माना जाएगा।

मुख्यमंत्री शहरी आजीविका गारंटी योजना के ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

शहरी आजीविका गारंटी योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आवेदकों को निम्नलिखित चरणों का पालन करना होगा।

  1. सबसे पहले, आवेदकों को उर्बन डेवलपमेंट डिपार्टमेंट हिमाचल प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट ud.hp.gov.in पर जाना होगा।
  2. वेबसाइट पर आने के बाद, आवेदकों को मुख्यमंत्री शहरी आजीविका गारंटी योजना (MMSAGY) के लिए ऑप्शन पर क्लिक करना होगा, जैसा कि नीचे दिखाया गया है।
  3. Applicant registration के ऑप्शन पर जाने के लिए नए पेज पर जाएं।
  4. फॉर्म खुल जाने के बाद, आपसे डिस्ट्रिक्ट, ULB नेम, वार्ड नंबर, वार्ड नेम, अपना नाम, पिता का नाम, लिंग, जन्मतिथि, आधार कार्ड का नंबर, मोबाइल नंबर आदि जानकारी की मांग की जाएगी।
  5. आपको सभी जानकारियों को सही से भरने के बाद, मांगे गए सभी दस्तावेजों को स्कैन या अपलोड करना होगा। फिर आपको सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक कर देना होगा। इसके बाद, आपकी आवेदन प्रक्रिया पूर्ण हो जाएगी।
himachal

मुख्यमंत्री शहरी आजीविका गारंटी ऑफलाइन आवेदन करे की प्रक्रिया

आपको अपने योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए कुछ स्टेप्स का पालन करना होगा। सबसे पहले आपको हिमाचल प्रदेश के अर्बन डेवलपमेंट डिपार्टमेंट की आधिकारिक वेबसाइट ud.hp.gov.in पर जाना होगा।

  1. होम पेज पर जाने और “purpose of scheme” ऑप्शन पर क्लिक करें।
  2. एक नया पेज खुलेगा जिसमें आपको आवेदन फॉर्म के पीडीएफ को डाउनलोड करके प्रिंटआउट निकालने की सलाह दी जाएगी।
  3. आवेदन फॉर्म में अपना नाम, पिता का नाम, पता, मोबाइल नंबर, आधार नंबर, बैंक की डिटेल्स, बैंक खाता नंबर आदि की जानकारी भरें।
  4. आवेदन फॉर्म में आवश्यक दस्तावेजों की फोटो कॉपी अटैच करें।
  5. फॉर्म को एक बार ध्यानपूर्वक चेक करें और यदि कोई गलती हो तो उसे सुधारें।
  6. अंत में, आवेदन फॉर्म को सम्बंधित कार्यालय में सबमिट करें।

आवेदक का फॉर्म की सत्यापन पूरा होने के बाद, 15 दिन के भीतर रोजगार प्रदान किया जायेगा।

मुख्यमंत्री शहरी आजीविका योजना मुख्य बाते 2023 

  • योजना के तहत राज्य के नागरिकों को प्रति वर्ष 120 दिन की गारंटी वाली रोजगार राशि प्रदान की जाएगी, जिससे वे अपनी आर्थिक स्थिति में सुधार कर सकते हैं।
  • मुख्यमंत्री शहरी आजीविका योजना के तहत नागरिकों के लिए कौशल विकास योजना ट्रेनिंग की सुविधा भी उपलब्ध होगी। इससे लोगों को नए रोजगार के अवसर मिलेंगे। दीनदयाल अंत्योदय राष्ट्रीय शहरी मिशन के अंतर्गत लाभार्थियों को कौशल ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी।
  • योजना के अंतर्गत, लाभार्थियों को 275 रुपये की दिहाड़ी प्रदान की जाएगी। इसके अंतर्गत महिलाएं और पुरुष दोनों को बराबर दिहाड़ी प्राप्त होगी।
  • जय राम ठाकुर ने हिमाचल प्रदेश में मुख्यमंत्री शहरी आजीविका गारंटी योजना की शुरुआत की है। वे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 22 सितंबर 2020 को इस योजना की शुरुआत का ऐलान कर चुके हैं।
  • योजना का मुख्य उद्देश्य शहरी क्षेत्रों में व्यापार को बढ़ाना है ताकि लोगों को रोजगार की सुविधा मिलती रहे और वे अपने परिवार की आर्थिक मदद कर सकें। इसके अंतर्गत लाभार्थियों को कौशल विकास की ट्रेनिंग भी प्रदान की जाएगी ताकि वे अपनी आर्थिक स्थिति को सुधार सकें।
  • हिमाचल प्रदेश मुख्यमंत्री शहरी आजीविका योजना के लिए आवेदन करने के लिए आप ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों माध्यमों का उपयोग कर सकते हैं। ऑनलाइन माध्यम से आवेदन करने के लिए, आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा और फॉर्म भरकर सबमिट करना होगा। और अगर आप ऑफलाइन माध्यम से आवेदन करना चाहते हैं, तो आप ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं या कार्यालय में जाकर फॉर्म प्राप्त कर सकते हैं और उसे भरकर कार्यालय में जमा करा सकते हैं।
  • आवेदन हेतु हिमाचल प्रदेश मुख्यमंत्री शहरी आजीविका योजना की आधिकारिक वेबसाइट ud.hp.gov.in है। आप इस वेबसाइट के माध्यम से अपने मोबाइल या कंप्यूटर से कहीं से भी योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।
  • मुख्यमंत्री शहरी आजीविका गारंटी योजना के मुख्य भाग की विस्तृत जानकारी निम्नलिखित है:
  1. रोजगार की गारंटी
  2. 120 दिन की रोजगार अवधि
  3. कौशल विकास की ट्रेनिंग
  4. बैंक लिंकेज की सुविधा

मुख्यमंत्री शहरी आजीविका गारंटी योजना से संबंधित सभी जानकारियों को आपको बता दिया गया है और इसकी आधिकारिक वेबसाइट ud.hp.gov.in है। आप इस लेख में दिए गए लिंक के माध्यम से इस वेबसाइट पर जाकर और जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। आपके लिए यह जानकारी उपयोगी होगी यदि आपको इस संबंध में कोई सहायता चाहिए तो हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं। हम आशा करते हैं कि आपको हमारे द्वारा प्रदान की गई जानकारी से सहायता मिलेगी।

Leave a Comment